नेपाल सरकार ने नदी के तटबंध कार्य को रोका, बिहार पर मंडरा रहा है बाढ़ का खतरा.



नेपाल (Nepal) की एक और बेतुकी हरकत की वजह से बिहार के बड़े हिस्से में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है. नेपाल सरकार ने बिहार के पूर्वी चम्पारण के ढाका अनुमंडल में लाल बकेया नदी पर बन रहे तटबंध के पुर्निर्माण काम को रोक दिया है. बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बताया कि नेपाल गंडक बांध के लिए मरम्मत कार्य की अनुमति नहीं दे रहा है. जबकि लाल बकेया नदी 'नो मैंस लैंड' का हिस्सा है.


जल संसाधन मंत्री के मुताबिक इस जगह के अलावा भी नेपाल ने कई अन्य स्थानों पर मरम्मत का काम रोक दिया है.

उन्होंने आगे ये भी बताया कि अगर इस मुद्दे पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो बिहार के बड़े हिस्से में बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा.

गौरतलब है कि गंडक नदी बैराज के 36 द्वार हैं, जिनमें से 18 नेपाल में हैं. भारत ने अपने हिस्से में आने वाले फाटक तक के बांध की हर साल की तरह इस साल भी मरम्मत कर दी है. वहीं नेपाल के हिस्से में आने वाले 18वें से लेकर 36वें फाटक तक बने बांध की मरम्मत नहीं हो सकी है. नेपाल बांध मरम्मत के लिए सामग्री नहीं ले जाने दे रहा है और उसने इस क्षेत्र में अवरोध डाल दिए हैं.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां