BREAKING: बिहार के सभी स्कूल-कॉलेज 11 अप्रैल तक बंद, सार्वजनिक स्थानों पर कार्यक्रम पर रोक.



बिहार में सार्वजनिक आयोजनों पर कुछ दिनों के लिए रोक लगा दी गई है। कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक करने के बाद यह निर्देश पदाधिकारियों को दिया है। इसके साथ ही 5 अप्रैल से खुलने वाले स्कूल-कॉलेज और कोचिंग स्थान अब 11 अप्रैल तक बंद रहेंगे। नीतीश कुमार ने बैठक में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को स्कूलों को बंद रखने की सलाह दी थी। जिसके बाद ही स्कूल-कॉलेजों को 11 अप्रैल तक के लिए बंद रखने का फैसला किया गया है।

श्राद्ध में 50 लोगों के शामिल होने की इजाजत
बिहार सरकार के गृह विभाग का ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सार्वजनिक स्थलो पर किसी की प्रकार के कार्यक्रमों पर 5 अप्रैल से महीने के आखिर तक रोक लगी रहेगी। इस दौरान श्राद्ध में केवल 50 लोग और शादी विवाह के कार्यक्रम में 250 लोगों को शामिल करने की इजाजत होगी।



बसों में क्षमता से आधी सवारी बैठाने की इजाजत
कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए बसों में क्षमता से आधी सवारियों को बैठाने का आदेश दिया गया है। राज्य सरकार की ओर से कहा गया है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट में अधिकतम 50 प्रतिशत क्षमता के ज्यादा किसी भी परिस्थित में नहीं रहने दिया जाएगा। यह व्यवस्था 5 अप्रैल से 15 अप्रैल तक लागू रहेगी। इसका पालन कराने की जिम्मेदारी परिवहन विभाग और जिला प्रशासन की होगी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से की अपील
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस से नुकसान नहीं पहुंचे, इसके लिए लोगों को इलाज और टीकाकरण करना होगा। इसके साथ ही लोगों को कोरोना से सचेत रहने की जरूरत पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे सार्वजनिक आयोजनों को कुछ दिनों के लिए स्थगित कर दें। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कोविड-19 के लिए तैयार किए गए अस्पतालों में पूरी तैयारी रखें और टीकाकरण की संख्या को बढ़ाएं ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण हो सके।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां